अब चिप से होगा कोरोना वायरस का इलाज़

corona
77

क्या किसी चिप द्वारा कोरोना वायरस की जांच और उसको फिल्टर करके शरीर से बाहर निकाला जा सकता है। यदि आप भी ऐसा ही सोच रहे हैं तो आपको बता दें कि पेंटागन के वैज्ञानिकों ने एक ऐसी चिप का निर्माण किया है जो हमारे शरीर की रासायनिक स्थिति का पता लगाकर वायरस की पहचान करेगी और उसे शरीर से फिल्टर करके बाहर निकालने में भी मदद करेगी।

चिप से होगा वायरस का इलाज़

वैज्ञानिकों के अनुसार इस चिप को शरीर में त्वचा के नीचे लगाना पड़ेगा।
डिफेंस एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी ने इस नई तकनीक की खोज की है और इस एजेंसी का दावा है कि इस चिप की मदद से किसी भी वायरस का पता आसानी से लगाया जा सकता है और उसे आसानी से शरीर से बाहर निकाला जा सकता है। यानी अगर वैज्ञानिकों का यह दावा सही साबित हुआ तो निकट भविष्य में कोरोना वायरस जैसी महामारी कभी उत्पन्न नहीं होगी।

अमेरिका में रक्षा विभाग मुख्यालय पेंटागन के कुछ वैज्ञानिकों ने इस अद्भुत चिप का निर्माण किया है। वैज्ञानिकों का यह दावा है कि यह करोना वायरस और अन्य वायरस को आसानी से पहचान करके उसे शरीर से फिल्टर करके बाहर निकाल सकती है।

करोना अंतिम महामारी

इस चिप को बनाने वाली वैज्ञानिकों की टीम के मुख्य सदस्य रिटायर कर्नल डॉक्टर मेट हेपबर्न का मानना है कि इस चिप के विकसित होने के बाद कोरोना वायरस जैसी अन्य कोई बीमारी निकट भविष्य में कभी पैदा नहीं होगी। वैज्ञानिकों के अनुसार इस चिप को त्वचा के नीचे शरीर के किसी भी भाग में लगाया जा सकता है।कोरोना वायरस

यह चिप शरीर में होने वाली रासायनिक प्रक्रियाओं का पता लगाएगी और इसकी मदद से यह भी पता लगाया जा सकता है कि आप किस वायरस से कितने लंबे समय तक संक्रमित हैं।

बहुत कम समय में रिजल्ट

इस चिप को बनाने वाले वैज्ञानिकों ने एक टिशू जैसे gel का भी निर्माण किया है जो माइक्रोचिप के अंदर डाला जाएगा और यह लगातार व्यक्ति के खून की जांच करता रहेगा। इसके बाद यह चिप 3 से 5 मिनट के अंदर वायरस की जानकारी दे देगी।

यदि हमें रिजल्ट इतनी जल्दी मिल जाएंगे तो हम आसानी से यह पता लगा सकते हैं कि वायरस शरीर के किस हिस्से में है और उसे तत्काल वही खत्म किया जा सकता है। जिससे वायरस से होने वाली महामारी से निपटा जा सकता है।

वायरस हटाने वाली मशीन

साथ ही पेंटागन की एक सहयोगी पैथोलॉजी संस्था ने एक मशीन का निर्माण भी किया है। यह मशीन ठीक वैसे ही काम करेगी जैसे हमारी किडनी हमारे खून को डायलिसिस करती है। यह मशीन खून को डायलिसिस करके वायरस को शरीर से निकाल देगी।

डॉक्टर हैपबर्न ने बताया है कि इस मशीन का प्रयोग एक रोगी पर करके देखा गया है और मशीन ने आसानी से उसके शरीर से वायरस को फिल्टर करके बाहर निकाल दिया। अब वह रोगी बिल्कुल स्वस्थ है। इस मशीन की सफलता को देखते हुए इस मशीन को आपातकाल की स्थिति में उपयोग के लिए मंजूरी दे दी गई है।

तो अगर यह चिप अमेरिकन वैज्ञानिकों द्वारा बताए गए कथन के अनुसार कार्य करती है तो जल्द ही हमें कोरोना वायरस से छुटकारा मिल जाएगा।

Leave a Reply