टाइटैनिक जहाज रोचक तथ्य

टाइटैनिक जहाज
82

आप सभी ने टाइटैनिक फिल्म जरूर देखी होगी। इस फिल्म में टाइटैनिक जहाज के डूबने की सत्य घटना को  एक प्रेम कहानी के साथ जोड़ कर दिखाया गया है।  टाइटैनिक को उस समय का सबसे विशाल  जहाज था और ऐसा माना जाता था कि यह जहाज कभी नहीं डूबेगा फिर भी यह अपनी पहली ही यात्रा पर डूब गया था।आज हम बात करने वाले हैं टाइटैनिक जहाज के बारे में कुछ  रोचक तथ्यों के बारे में।

टाइटैनिक जहाज

टाइटैनिक जहाज रोचक तथ्य

टाइटैनिक जहाज उस समय का सबसे बड़ा जहाज था लंबाई लगभग 883 फीट थी जो 3 फुटबॉल के मैदानों जितनी है। इसकी ऊंचाई 17 माले की बिल्डिंग जितनी थी।

टाइटैनिक को व्हाइट स्टार लाइन नामक कंपनी ने बनाया था और इसका पूरा नाम रॉयल मेल शिप था।

टाइटैनिक जहाज को बनाने के दौरान 246 लोग घायल हो गए थे और 2  व्यक्तियों की मृत्यु भी हो गई थी। यह जहाज 31 मई 1911 में बनकर तैयार हुआ और इसे देखने के लिए लगभग एक लाख व्यक्ति आए थे।

टाइटैनिक जहाज को बनने में 26 महीने का समय लगा था और इसे बनाने में लगभग 3000 लोगों की टीम ने भाग लिया था।

14 अप्रैल 1912 को रात के 11:40 पर टाइटैनिक जहाज अटलांटिक सागर में बर्फ के एक विशाल टुकड़े से टकराकर डूब गया। यह विश्व के इतिहास का पहला जहाज  था जो एक बर्फ के टुकड़े से टकराकर  डूब गया था।

टाइटैनिक जहाज पर  यात्री और चालक दल कुल मिलाकर 2208  व्यक्ति यात्रा कर रहे थे। जहाज के डूबने के बाद इनमें से 712 लोगों को बचा लिया गया था।

टाइटैनिक को पूरी तरह से डूबने में लगभग 2 घंटे और 40 मिनट का समय लगा था।

जब टाइटैनिक के चालक को आइस बर्ग दिखाई दिया उस समय  एक्शन लेने के लिए 37 सेकंड  का समय था। यदि चालक के  पास 30 सेकंड और अधिक होते तो टाइटैनिक को डूबने से बचाया जा सकता था।

जहाज के डूबने की खबर मिलने के बाद भी  म्यूजिशियन का दल जहाज में म्यूजिक बचाता रहा  ताकि मरने वाले लोग अपने अंतिम पल खुशी के साथ बिता सकें।

टाइटैनिक के डूबने की घटना पर इसी नाम से बनी फिल्म दुनिया की 3 सबसे बेहतरीन फिल्मों में शामिल है। और इस फिल्म के अंत में भी यही दिखाए गया है म्यूजिक  बजाने वाला दल अंतिम समय तक म्यूजिक बजाता रहता है।

टाइटैनिक फिल्म की लागत उस समय टाइटैनिक जहाज को बनाने पर लगी लागत है ज्यादा थी।

टाइटैनिक जहाज पर 9 कुत्ते भी सफर कर रहे थे जिनमें से दो कुत्तों को बचा लिया गया था।

जिस जगह पर टाइटैनिक जहाज डूबा था वहां पर जल का तापमान मात्र 2 डिग्री सेल्सियस था। जिसकी वजह से सर्दी के कारण 15 मिनट के अंदर ही  पानी में कूदे सभी लोगों की मृत्यु हो गई थी।

इस जहाज के अंदर $700000 का सामान था।

टाइटैनिक जहाज में चार चिमनिया लगाई गई थी जिनमें से एक चिमनी केवल डिजाइन के लिए लगाई गई थी यह काम नहीं करती थी।
the titanic ship


दुनिया में सबसे बेहतरीन चॉकलेट बार का निर्माण करने वाले मिल्टन हरसे ने भी टाइटैनिक जहाज का टिकट खरीदा था लेकिन उन्होंने अंतिम समय में यात्रा पर जाने की योजना बदल दी थी।

टाइटैनिक जहाज के डूबने की घटना के बारे में  विवरण देने के लिए एक वेबसाइट(https://www.encyclopedia-titanica.org/) भी बनाई गई है। इस वेबसाइट पर जहाज के सभी यात्रियों का विवरण है।

Leave a Reply