सोनू सूद रियल हीरो

sonu sood
80

सोनू सूद रियल हीरो:-फिल्मों में विलेन की भूमिका निभाने वाले सोनू सूद वास्तव जीवन में लोगों के लिए किसी मसीहा से कम नहीं है।
गौरतलब है कि सोनू सूद ने इस करोना काल में बहुत सारे लोगों की सहायता की है।
आइए जानते हैं सोनू सूद के जीवन के कुछ बिहारी रोचक तथ्य।

सोनू सूद रियल हीरो

सोनू सूद ने अपने फिल्मी कैरियर की शुरुआत 1999 में आई तमिल फिल्म Kallazhagar से की थी। उनकी पहली हिंदी फिल्म का नाम 2002 में आई शहीद-ए-आजम है।

सलमान खान की दबंग फिल्म में सोनू सूद ने उनके ऑपोजिट विलेन का रोल किया था। इस फिल्म में उनके अभिनय की सभी ने सराहना की और उन्हें एक नई पहचान मिली।

सोनू सूद अपने ही फिजिक्स पर बहुत ध्यान देते हैं यही कारण है कि वह रेगुलर जिम जाते हैं। यही कारण है कि सोनू सूद काफी फिट है।

सोनू सूद बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन के काफी बड़े फैन हैं।

सोनू सूद

सोनू सूद की धर्म में गहरी आस्था है और वह आम जीवन में ना तो स्मोकिंग करते हैं और ना ही ड्रिंक।

सोनू सूद ने 23 साल की उम्र में सोनाली से शादी की थी। उनके दो बेटे हैं ईशान और अयान।

करोना काल में सोनू सूद ने गरीब लोगों की बहुत सहायता की। सोनू सूद लोगों को ऑक्सीजन पहुंचा रहे हैं और कोरोना के मरीजों के लिए धन से भी उनकी सहायता कर रहे हैं साथ ही साथ लॉकडाउन के दौरान उन्होंने बहुत सारे गरीब लोगों को उनके घर तक पहुंचाने का कार्य भी किया।

सोनू सूद ने गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए एक नई मुहिम चलाई।इसके लिए सोनू सूद ने अपनी मां के नाम पर सरोज सूद स्कॉलरशिप योजना चलाई ।इस योजना के अंतर्गत बच्चों की फीस छात्र ,रहने का खर्चा और भोजन का खर्चे के लिए पैसे दिए गए।

खबरों के अनुसार इस साल भी सोनू सूद यूपीएससी की तैयारी कर रहे बच्चों के लिए स्कॉलरशिप योजना लाने वाले हैं।

Leave a Reply