Love facts in Hindi

79

प्यार को दुनिया की सबसे बड़ी दौलत माना जाता है। जब आप प्यार में होते हैं तो आपको सारी चीजें अच्छी लगती है और एक अजीब सा  खुशनुमा एहसास होता है।
जब आप अपने साथी के साथ होते हैं तो ऐसा लगता है कि यह वक़्त ठहर जाए। प्यार में व्यक्ति बड़ी से बड़ी मुसीबत को आसानी से सह लेता है।
तो आइए बात करते हैं प्यार  से जुड़े कुछ मनोवैज्ञानिक तथ्यों(Love facts) के बारे मे।

Love facts in Hindi

प्यार शब्द संस्कृत भाषा के ”लुभवति’ से उत्पन्न हुआ है जिसका अर्थ होता है इच्छा

एक शोध के अनुसार ऐसे   दंपत्ति जिनकी  आदत  एक दूसरे से  काफी मिलती-जुलती हैं उनका रिश्ता लंबे समय तक नहीं  चलता।

जब भी व्यक्ति प्यार में होता है तो प्यार का असर उसके दिमाग पर एक नशे की तरह होता है। जब हम प्यार में होते हैं तो हमारे शरीर में डोपामाइन सेरोटोनिन आदि हार्मोन का लेवल बढ़ जाता है। यह हार्मोन हमारे शरीर पर ऐसा ही प्रभाव डालते हैं जैसा कि कोकीन के नशे का होता है।

जब व्यक्ति सच्चे प्यार में होता है तो उसके शरीर में ऑक्सीटोसिन का लेवल बढ़ जाता है। यह हार्मोन पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ज्यादा  बनता है इसलिए सच्चा प्यार अधिकतर महिलाओं को ही होता है।Love facts

एक शोध के अनुसार जब मनुष्य किसी प्रकार के  दर्द का एहसास कर रहा हो और उसे के साथी की फोटो दिखाई जाए तो दर्द का एहसास कम हो जाता है।

मनोवैज्ञानिक तथ्यों के अनुसार  प्यार एक केमिकल रिएक्शन की तरह है और यह रिएक्शन 1 साल से अधिक नहीं चलती  अर्थात अधिकतर  रोमांटिक रिलेशनशिप 1 साल के बाद फीके पड़ जाते हैं।

यदि किसी व्यक्ति को एक विचित्र बीमारी हाइपोपिट्यूटरिज्म  हो तो  उसे कभी भी प्यार की अनुभूति का एहसास नहीं होगा।

मनोवैज्ञानिक तथ्यों के अनुसार एक मनुष्य विवाह से पहले लगभग औसतन 7 बार प्यार में पड़ता है।

शोध के अनुसार जो रिश्ते ऑनलाइन डेटिंग  से बनते हैं उनमें से अधिकतर शादी तक नहीं पहुंचते।

यदि आपका प्यार में ब्रेकअप हो जाए तो यह आपके लिए जानलेवा हो सकता है। क्योंकि ऐसी स्थिति में बहुत सारे स्ट्रेस हार्मोन  इकट्ठा हो जाते हैं और ऐसे में हमारा दिल धड़कना बंद कर सकता है। जिसके कारण व्यक्ति की मृत्यु तक हो सकती है।

जब भी हम पहली बार किसी से मिलते हैं और वह हमें पसंद है या नहीं यह निर्धारित करने में हमारे दिमाग को लगभग 4 मिनट का समय लगता है।

इंगेजमेंट के दौरान अंगूठी हमारे  बाएं हाथ की तीसरी उंगली में पहनाई जाती है क्योंकि यह एकमात्र ऐसी अंगूठी है  जिससे नशे हमारे दिल तक जाती हैं।

शोध के अनुसार ऐसा पाया गया है कि महिलाएं या लड़कियां जिस पुरुष को अधिक पसंद करती हैं उससे आंखें ज्यादा देर तक नहीं मिला सकती।

जब भी आप प्यार में होते हैं तो आप किसी भी काम पर फोकस नहीं कर पाते। यानी कि हम यह कह सकते हैं कि प्यार से हमारा फोकस काम पर कम हो जाता है।

जब आप किसी व्यक्ति विशेष से प्यार करते हैं और जब वह आपके सामने आ जाता है तो ऐसी स्थिति में हमारी आंख की पुतली  लगभग 45% फैल जाती है।

एक शोध में यह पाया गया है कि आप जिस व्यक्ति से ज्यादा बातें करते हैं तो उसके साथ प्यार में पड़ने की संभावना। इसलिए जब भी आप किसी से बात करें तो सोच समझ कर ही बात करें।

जब आप किसी से सच्चा प्यार करते हो और वह व्यक्ति विशेष आप को इग्नोर करें तो दिमाग में ठीक वही प्रतिक्रिया होती है जो चोट लगने के तुरंत बाद होती है।

Leave a Reply